वाराणसी में बन रहे फ्लाईओवर हादसे में 19 लोग मारे गए है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने हादसे में मृत लोगों के परिजनों को पांच लाख जबकि घायलों को दो-दो लाख रुपये की मदद देने का निर्देश दिया है। वहीं निर्माणाधीन फ्लाईओवर के गिरने के कारणों की जांच के लिए मुख्यमंत्री ने तीन सदस्यीय समिति का गठन किया है।

मगर वही सबसे बड़ा सवाल जो बीजेपी की नियत पर उठ रहा है वो ये की कर्नाटक चुनाव में बहुमत से दूर बीजेपी ने जेडीएस समेत कई नेताओं को करोड़ो का ऑफर दिया है। मगर हादसे में मारे गए लोगों महज 5 लाख रूपया ही दिया जा रहा है। अब इसे सत्ता की कीमित और आम जान की कीमत कहा जाये या फिर कुछ मगर सच्चाई तो यही है ।

जेडीएस-कांग्रेस की तरफ से मुख्यमंत्री पद के दावेदार एच डी कुमारस्वामी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए कहा कि बीजेपी हमारे विधायकों को 100 करोड़ो रुपयों का ऑफर दे रही है। उन्होंने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा है कि ‘ऑपरेशन कमल’ सफल होगा ये भूल जाओ। यहां ऐसे लोग हैं जो बीजेपी छोड़कर हमारे साथ आने को तैयार है।

इसके साथ ही कुमारस्वामी ने आरोप लगाया कि जेडीएस के प्रत्येक विधायक को 100 करोड़ रुपए ऑफर किए जा रहे है। यह काला पैसा कहां से आ रहा है? अभी आयकर अधिकारी कहां हैं?

वही वाराणसी में हुए फ्लाईओवर हादसे पर मारे गए लोगों से पोस्टमार्टम के लिए 200 से 300 रुपये वसूले जा रहे है। भले ही हादसे के बाद मोदी और योगी सरकार एक्शन में आ गई हो मगर जिस तरह से हादसे में मारे गए लोगों के परिजनों को 5 लाख रूपया दिया जा रहा है वही दूसरी तरफ विधायक जो सरकार बनवाते है उन्हें 100 करोड़ दिए जा रहे क्या ये जनता के साथ बीजेपी सरकार का धोखा नहीं है।