जैसे जैसे 2019 के लोकसभा चुनाव करीब आ रहे हैं। वैसे वैसे भाजपा विधायकों के विवादित बयान बढ़ते जा रहे हैं। भाजपा विधायक का कहना है कि यदि वह गृहमंत्री होते तो पुलिस को बुद्धिजीवियों को गोली मारने का आदेश दे देते।

कर्नाटक के विजयपुरा इलाके से विधायक बासनगौड़ा पाटिल यतनाल ने यह बयान दिया है। विधायक के अनुसार, कथित उदारवादी और बुद्धिजीवी देश विरोधी हैं।

गुरुवार को कारगिल विजय दिवस के मौके पर आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान भाजपा विधायक ने कहा कि “ये लोग (बुद्धिजीवी) इस देश में रहते हैं और हमारे टैक्स से सारी सुविधाएं पाते हैं। इसके बाद ये भारतीय सेना के खिलाफ बयानबाजी करते हैं। हमारे देश को सबसे ज्यादा खतरा इन सेक्युलर और बुद्धिजीवी लोगों से ही है।”

ये कोई पहली बार नहीं जब विधायक बासनगौड़ा ने इस तरह का बयान दिया है। वो पहले भी अपने सांप्रदायिक बयानों के लिए सुर्ख़ियों में बने रहे हैं। इस से पहले वो एक कार्यक्रम के दौरान देश के उद्योगपतियों से केवल हिन्दू समुदाय के लिए काम करने की गुज़ारिश कर चुके हैं।

इसके अलावा भाजपा विधायक ने एक स्थानीय पार्टी के नेता को मुस्लिमों की मदद ना करने को कहा था, क्योंकि उनके अनुसार, मुस्लिमों ने भाजपा को वोट नहीं दिया था। भाजपा विधायक की एक वीडियो भी सामने आयी थी, जिसमें वह कहते सुनाई दे रहे थे कि ‘मैंने कभी मुस्लिमों से वोट नहीं मांगा है। मुझे हिंदुओं पर विश्वास है और वो मेरे लिए वोट करेंगे।’