पंजाब नेशनल बैंक धोखाधड़ी मामले पर बहुजन समाज पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने मोदी सरकार पर हमला बोला।

मायावती ने एक बयान जारी करते हुए कहा कि, मोदी सरकार में एक सरकारी बैंक लूट गई। सरकार चुपचाप बैठी तमाशा देखती रही। ये कैसी ना खाउंगा ना खाने दूंगा वाली सरकार है।

मायावती ने आगे कहा कि, प्रधानमंत्री मोदी ने गरीबों से पैसा बैंकों में जमा कराया फिर अमीरों से बैंक लूटने दी।

मोदी सरकार पर हमला करते हुए मायावती ने कहा कि, इस सरकार जुमलों का सहारा लिया ताकि देश को ठगा जाए।

क्या है घोटाला

बता दें, कि पीएनबी में 11,400 करोड़ का घोटाला हुआ है। इस घोटाले में आरोप हीरा कारोबारी नीरव मोदी को बताया जा रहा है। नीरव मोदी देश के सबसे बड़े उद्योगपति और मोदी सरकार के करीबी माने जाने वाले मुकेश अम्बानी के रिश्तेदार हैं। हाल ही में नीरव मोदी को स्विट्ज़रलैंड के दावोस शहर में हुए वर्ल्ड इकोनोमिक फोरम में पीएम मोदी के साथ देखा भी गया था।

आरोप हैं कि नीरव मोदी पीएनबी से लेटर ऑफ अंडरस्टैंडिंग हासिल कर सालों से लगातार हज़ारों करोड़ का घोटाला कर रहा था। इस संबंध में बैंक के अधिकारीयों से भी पूछताछ की जा रही है।

लेटर ऑफ अंडरस्टैंडिंग एक तरह की गारंटी होती है जिसे एक बैंक किसी अन्तरराष्ट्रीय बैंक को देता किसी कंपनी के समर्थन में। उस गारंटी के आधार पर कंपनी को अंतर्राष्ट्रीय बैंक से लोन मिल जाता है। अगर कंपनी वो लोन नहीं चुकाती है तो लेटर ऑफ अंडरस्टैंडिंग देने वाले बैंक को वो लोन चुकाना पड़ता है।