एकतरफ कानून का सहारा लेकर गुंडे-बदमाशों को मारने का सिलसिला जारी है दूसरी तरफ बैखोफ गुंडे अपराध करने में व्यस्त है।

अब सवाल उठ रहा है कि क्या सत्ताधारी के छांव में पल रहे गुंडे इतने घिनौने अपराधों को अंजाम दे रहे हैं। या फिर यूपी की कानून व्यवस्था ही पूरी तरह चौपट हो चुकी है।

बीते रोज प्रतापगढ़ के तेउगा ग्राम सभा में रहने वाली राबिया को नशे मे धुत कुछ लोगो ने पकड़ लिया। बलात्कार करने की नीयत से जब उन्होंने इस महिला को पकड़ा तो महिला ने चीखना-चिल्लाना शुरू कर दिया।

नशे में धुत अपराधियों ने महिला को बेरहमी से पीटा। इतना पीटा कि उसके दोनों पैर व शरीर में कई अंदरूनी चोटों आई।

आज उस महिला ने इलाहाबाद में दम तोड़ दिया। एमआईएम के नेता शाजिद हसमत ने शेयर करते हुए लिखा कि, नशे में धुत टेऊँगा के ही गुड्डू पासी,मगन पासी व उनके और भी 3-4 साथियों ने बलात्कार करने की नियत से दबोच लिया।

राबिया के विरोध करने व चिल्लाने पर उपरोक्त व्यक्तियों द्वारा बलात्कार ना कर पाने के गुस्से में राबिया को बुरी तरह मार पीट कर उसके दोनों पैर व दोनों हाथ तोड़ दिया।सिर में भी काफी गंभीर चोटें आई हैं।

राबिया अकेले रहती है और न्यू एंजेल्स कॉलेज में साफ सफाई का कार्य करती है।मौके पर डायल 100 सूचना पर पहुंची और मज़रूब को जिला अस्पताल प्रतापगढ़ लाई।

गंभीर हालत को देखते हुए इलाहाबाद रेफर कीया गया था अभी राबिया ने दम तोड़ दिया
टेऊँगा में इसके पूर्व में भी कई हत्याएं लूट होती आ रही है।