उत्तर प्रद्रेश के कानपुर और लखनऊ में दिन दहाड़े हुए लड़की की हत्या पर सियासत गर्म हो चली है। इस मामले पर समाजवादी पार्टी की प्रवक्ता पंखुड़ी पाठक ने योगी सरकार के साथ साथ मीडिया को अपने निशाना पर लिया है।

पंखुड़ी ने कहा कि प्रदेश में एक तरफ लखनऊ में बेटी मार दी तो दूसरी बेटी कानपुर में खुलेआम मार दी गई मगर मीडिया सीएम योगी ‘टोपी’ न लगाने पर खबर चला रही है।

पंखुड़ी ने सोशल मीडिया पर लिखा योगी राज में एक बेटी को लखनऊ और एक बेटी को कानपुर में सरे आम गोली मार दी गयी लेकिन मीडिया की आँख नहीं झपकी , वहीं अजय सिंह बिष्ट ने ‘टोपी’ लगाने से मना किया इस ख़बर को ढोल नगाड़ों के साथ सुनाया जा रहा है! और कितना गिरेगा देश का चौथा स्तम्भ?

वही अगर टीवी चैनलों पर चलने वाली खबरों पर नज़र डाले तो ज्यादातर चैनलों पर सीएम योगी और पीएम मोदी का कबीर की मज़ार पर जाना दिखाया जा रहा है। रही सही कसर सर्जिकल स्ट्राइक ने पूरी कर दी है। करीब करीब सभी मीडिया चैनलों पर कानपूर और लखनऊ में हुई लड़कियों की खुलेआम हत्या पर कोई ख़बर या सवाल नहीं उठा रहा है।

बता दें कि कानपूर और लखनऊ में एक बाद एक खुले आम लड़कियों को गोली मार दी गई। पुलिस दोनों मामले की जांच में लगी हुई है। मगर एक सवाल जो हर कोई कर रहा है की आखिर योगी सरकार में बेख़ौफ़ अपराधीयों के पास हत्या करने की या फिर खुलेआम गोली मार देने की हिम्मत कहाँ से मिल रही है।