राफेल लड़ाकू विमान सौदे को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने एक बार फिर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा सरकार पर ​हमला बोला है। उन्होंने आज आरोप लगाया कि राफेल विमान घोटाले की रिपोर्टिंग कर रहे पत्रकारों को धमकियां मिल रही हैं।

राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा, “सर्वोच्च नेता के चमचे राफेल सौदे पर रिपोर्टिंग करने वाले पत्रकारों को धमकी भरे संदेश भेज रहे हैं, ताकि वे इससे बाहर रहें। मुझे उन बहादुर प्रेसकर्मियों पर गर्व है, जो आज भी सत्य की रक्षा कर रहे हैं और उनके पास मिस्टर 56 के सामने खड़े रहने की हिम्मत है”।

इससे पहले शनिवार को कांग्रेस अध्यक्ष ने राफेल विमान सौदे में कथित अनियमितता को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए कहा था कि 36 विमानों के रखरखाव के लिए अगले 50 वर्षों में देश के करदाताओं को एक निजी भारतीय समूह के संयुक्त उपक्रम को एक लाख करोड़ रुपये देने होंगे।

उन्होंने ट्वीट कर कहा था, “अगले 50 वर्षों में भारतीय करदाताओं को मिस्टर 56 के मित्र के संयुक्त उपक्रम को 36 राफेल विमानों के रखरखाव के लिए 1,00,000 करोड़ रुपये का भुगतान करना होगा।”

बता दें कि कांग्रेस और राहुल गांधी राफेल डील में भ्रष्टाचार का आरोप लगाते हुए केंद्र की मोदी सरकार पर लगातार हमलावर हैं। कांग्रेस ने इसी मामले में प्रधानमंत्री मोदी और रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण के खिलाफ़ लोकसभा में विशेषाधिकार हनन का नोटिस दे रखा है। पार्टी का आरोप है कि राफेल विमानों की कीमत बताने के संदर्भ में मोदी और सीतारमण ने सदन को गुमराह किया है।