कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने दलितों के मुद्दे को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि पीएम मोदी की सोच दलित विरोधी है। पीएम के दिल में दलितों के लिए कोई जगह नहीं है।

एससी/एसटी एक्ट और आरक्षण से जुड़े मसले को लेकर दलित संगठनों द्वारा दिल्ली के जंतर-मंतर पर किए जा रहे प्रदर्शन में हिस्सा लेते हुए राहुल ने कहा कि जहां भी बीजेपी की सरकार है, वहां पर दलितों पर हमला हो रहा है। जब मोदी सीएम थे, तब उन्होंने अपनी किताब में लिखा है कि दलितों को सफाई करने से आनंद मिलता है। राहुल ने कहा कि ये ही उनकी सोच है।

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि हम सबको एकजुट होकर बीजेपी और आरएसएस की मानसिकता को हराना है। उनकी सोच नफ़रत की है और कांग्रेस पार्टी प्यार से सबको साथ लेकर चलना जानती है। 2019 में मोदी सरकार का हारना तय है और उन्हें हम सबको मिलकर हराना होगा। आप देश में कहीं भी आंदोलन करेंगे तो हम आपके साथ हैं। मैं आपके लिए हमेशा खड़ा रहूंगा।

राहुल गांधी ने एससी-एसटी ऐक्ट को कमजोर करने के लिए मोदी सरकार को जिम्मेदार ठहराया। उन्होंने कहा कि जिस जज ने एससी-एसटी ऐक्ट में बदलाव कर इसे कमजोर किया, उसे मोदी सरकार ने बड़ा पद देने का काम किया है। राहुल ने कहा कि नरेंद्र मोदी की सोच है कि भारत के भविष्य में दलितों की कोई जगह नहीं होनी चाहिए।

इस प्रदर्शन में हिस्सा लेने के लिए राहुल गांधी के साथ CPI(M)  के महासचिव सीताराम येचुरी भी जंतर-मंतर पहुंचे। बता दें कि ये प्रदर्शन एससी/एसटी एक्ट को नौवीं सूची में डालने के लिए किया जा रहा है ताकि कोई इसे छेड़ न सके। कोर्ट भी नहीं।