कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने महिला सुरक्षा को लेकर एक बार फिर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और सत्तारूढ़ बीजेपी पर हमला बोला है। उन्होंने कहा कि देश की बेटियों को बीजेपी के विधायकों से बचाना होगा।

दिल्ली में मंगलवार को महिला अधिकार सम्मेलन में जनसभा को संबोधित करते हुए राहुल ने कहा कि पीएम ‍मोदी सब चीजों पर बोलते हैं लेकिन महिलाओं के खिलाफ हो अत्याचार पर एक शब्द नहीं बोलते। उत्तर प्रदेश और बिहार में महिलाओं और बच्चियों को साथ इतनी बड़ी घटना हो गयी लेकिन उन्होंने अभी तक एक शब्द नहीं बोला।

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि इन चार वर्षों में जो महिलाओं के साथ अत्याचार हुए वैसा पिछले 70 सालों में नहीं हुआ। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि प्रधानमंत्री मोदी हमेशा कहते हैं कि ‘बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ’। हमें यह समझ नहीं आया कि बेटी किससे बचानी थी? बेटियों को बीजेपी विधायकों से बचाने की जरूरत है।

कांग्रेस अध्यक्ष ने बीजेपी-आरएसएस की सोच को महिला विरोधी बताते हुए कहा कि आरएसएस एक ऐसा संगठन है, जिसमें महिलाएं नहीं जा सकती है। उनकी विचारधारा है कि महिलाएं देश नहीं चला सकती हैं। जिस दिन आरएसएस में महिलाएं शामिल हो गई उस दिन आरएसएस बदल जाएगा।

राहुल गांधी ने कहा कि अगर महिलाओं की 50 प्रतिशत आबादी है तो फिर उनको इस संगठन में भी 50 फीसदी जगह मिलनी चाहिए। हमारा लक्ष्य महिलाओं को हर लेवल पर लीडरशिप में शामिल करने का है।