उत्तर प्रदेश की योगी सरकार इस बार कांवड़ियों पर कुछ ज़्यादा ही महरबान दिखी। सरकार ने अपने चहीते कांवड़ियों का स्वागत ऊपर से फूल बरसाकर किया। फूल बरसाने का काम चॉपर से किया गया, जिसे सरकार ने 14 लाख रुपए खर्च कर किराए पर लिया।

इकनॉमिक टाइम्स की ख़बर के मुताबिक, सरकार ने 7 अगस्त से लेकर 9 अगस्त तक कांवड़ यात्रा के दौरान फूल बरसाने के लिए एयर चार्टर सर्विसेस प्राइवेट लिमिटेड से 14.31 लाख रुपए का चॉपर किराए हायर किया। जिसपर सवार होकर मेरठ ज़ोन के एडीजी प्रशांत कुमार ने कांवड़ियों पर फूल बरसाए और इसकी तस्वीरें सोशल मीडिया पर साझा कीं।

इन तस्वीरों के सामने आने के बाद अब सोशल मीडिया पर यूज़रों का मानना है कि सरकार ने जनता की मेहनत की कमाई से जमा किए जाने वाले टैक्स के पैसों का ग़लत इस्तेमाल किया है। एक यूज़र ने लिखा, “यह तुष्टीकरण की राजनीति है और कर अदा करने वालों के पैसों की बर्बादी। पैसों को कांवड़ियों की मदद के लिए भी इस्तेमाल नहीं किया गया और हेलीकॉप्टर से फूल बरसाकर बर्बाद कर दिया गया, जिसका कोई फ़ाएदा नहीं”।

लेफ़्टिनेंट जनरल विनोद भाटिया ने लिखा, “हेलीकॉप्टर और फूलों का पैसा किसने दिया और यह वर्दी में क्यों? क्या यह सरकार का काम है, अगर ऐसा है तो फिर दूसरे धर्मों के समारोहों में भी यह होना चाहिए”।

ग़ौरतलब है कि यह वीडियो ऐसे वक्त पर सामने आया है, जब कांवड़ियों द्वारा किए जा रहे हंगामों और तोड़फोड़ की ख़बरें लगातार पढ़ने को मिल रही हैं। मंगलवार को ही दिल्ली के मोती नगर इलाके में कांवड़ियों ने सड़क पर एक कार के उन्हें सिर्फ छू जाने के बाद उसे बुरी तरह तोड़फोड़ डाला था, जिसका वीडियो काफी वायरल हुआ। इस वीडियो की भी सोशल मीडिया पर जमकर आलोचना की गई।

इसके बाद गुरुवार को भी उत्तर प्रदेश के ही बुलंदशहर से एक और वीडियो सामने आया है, जिसमें कांवड़ियों ने पुलिस की जीप पर हमला बोलकर जमकर तोड़फोड़ की और पुलिसकर्मियों को दौड़ा-दौड़ा कर पीटा।

By: Asif Raza