उत्तरप्रदेश की राजधानी लखनऊ में अपराध थमने का नाम नहीं ले रहे हैं। यहां आए दिन हत्याएं हो रही हैं। जबकि सीएम योगी आदित्यनाथ कानून व्यवस्था में रामराज्य की बात कर रहे हैं। लखनऊ में पांच दिन से लापता एक बच्ची की गला रेतकर हत्या कर दी गयी है।

लखनऊ के गोसाईंगंज में 10 वर्षीय बच्ची की संदिग्ध परिस्थिति में शव मिला है। बच्ची पांच दिन से गुमशुदा थी। बताया जा रहा है कि लड़की अपने भाई को तलाशने के लिए निकली थी।

बता दें कि गोसाईंगंज के बक्कास इलाके में गुरुवार सुबह एक 10 वर्षीय लड़की का शव मिलने से सनसनी फैल गई। लड़की की पहचान 10 वर्षीय अन्नू के रूप में हुई है, वो नौ नवंबर से लापता थी। लड़की के परिवारवालों के मुताबिक अन्नू अपने भाई को तलाशने के लिए निकली थी। जिसके बाद वो लापता हो गई।

परिवारीजनों ने अन्नू की गुमशुदगी की रिपोर्ट पुलिस में दर्ज की थी। लेकिन पांच दिन बीत जाने के बाद भी पुलिस गुमशुदा लड़की की तलाश करने में नाक़ाम रही। दरअसल यह हाल लखनऊ का है जहां खुद मुख्यामानरी योगी निवास करते हैं।

उतरप्रदेश की बिगड़ती कानून व्यवस्था में योगी के रामराज्य में अपराध इस हद तक बढ़ चुका है कि इसे अब जंगलराज कहना गलत नहीं होगा। अभी पिछले महीने नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो के आंकड़े सामने आये हैं। जिसके मुताबिक उतरप्रदेश हत्या और अपराध के मामले में देश का नम्बर एक राज्य का दर्ज़ा हासिल कर चुका है।

बता दे की साल 2016 से 2017 के दौरान उत्तर प्रदेश में सबसे ज्यादा हत्याएं हुईं। बता दे की यूपी में इस दौरान कुल 4,324 मर्डर केस दर्ज हुए। 2016 में यूपी में हत्या के कुल 4889 मामले दर्ज हुए थे।