मोदी सरकार में गिरती अर्थव्यवस्था की मार बड़े उद्योगपति झेल रहे हैं। बजाज ग्रुप के राहुल बजाज, एल एंड टी, मारुती सुजुकी के मलिक समेत तमाम लोग चिंता जाहिर कर चुके हैं। लेकिन फिर भी हैरतअंगेज तरीके से मोदी सरकार मंदी की बात से इनकार कर रही है।

देश में हालत यहां तक आ गए हैं कि लोगों की साइकिल तक खरीदने के लाले पड़ गए हैं। हीरो साइकिल के मालिक और मनेजिंग डायरेक्ट पंकज मुंजाल ने अपनी नई इलेक्ट्रिक साइकिल के लॉन्च के मौके पर कहा कि, “मैंने अपने जीवन में ग्रोथ रेट का गिरना देखा है, लेकिन गोर्थ रेट का सुकुड़ना 55 साल में ऐसा कभी नहीं हुआ।”

पत्रकारों ने जब पंकज मुंजाल से अर्थव्यवस्था में सुस्ती पर सवाल तो उन्होंने कहा कि, “यह पूछने की बात नहीं है बल्कि आकड़ें कह रहे हैं और उन आकड़ों में गिरावट हो रही है। अर्थशास्त्री भी मानते हैं कि लोगों के खरीदने की क्षमता इस मंदी के दौरान घट गई है। इसका असर बाजार में दिखाई दे रहा है।”

महिंद्रा-मारुति के बाद हीरो साइकिल पर मंदी की मार, एमडी बोले- 55 साल में इतने बुरे हालात नहीं देखे

पंकज मुंजाल में आगे कहा कि, “ग्रामीण और शहरी बाजार में खरीद करने की क्षमता घट गई है। लोग बचत करना चाहते हैं, शोरूम नहीं जाना चाहते। हो सकता है कि वह एक डर है और वह एक डेढ़ साल से हमें दिख रहा है, जिसे दूर करने की जरुरत है।”

वहीँ पंकज मुंजाल के इस बयान पर वरिष्ठ पत्रकार अजीत अंजुम ने तंज कसते हुए ट्विटर पर लिखा- पंकज मुंजाल ऐसा क्यों कह रहे हैं ? ज़रूर इनका पाकिस्तान से कोई रिश्ता है। ऐसी बहकी बहकी बातें करने वालों का तो देशप्रेम से कोई लेना देना हो ही नहीं सकता।

बता दें कि देश में ऑटो सेक्टर की प्रमुख कंपनियां इस वक्त मंदी की मार से परेशान हैं। मंदी के चलते मारूती, टाटा और अशोक लीलैंड जैसी कंपनियों की कई मैन्युफैक्चरिंग यूनिट्स बंद हो चुकी हैं। जिससे तकरीबन 10 लाख कर्मचारियों की नौकरी ख़तरे में आ गई है।