मध्य प्रदेश में टिकटों के बंटवारे को लेकर ज्योतिरादित्य सिंधिया और दिग्विजय सिंह के बीच हुई बहस की खबरों को मध्य प्रदेश कांग्रेस के प्रभारी एवं राष्ट्रीय महासचिव दीपक बावरिया ने ग़लत बताया है। उन्होंने कहा कि बीजेपी के इशारे पर मीडिया के कुछ लोगों ने इस झूठी ख़बर को फैलाया।

बावरिया ने शुक्रवार को मीडिया से बात करते हुए कहा कि ज्योतिरादित्य सिंधिया और दिग्विजय सिंह के बीच कोई झगड़ा नहीं हुआ है।

बीजेपी सोची समझी साजिश के तहत झूठ फैला रही है। बीजेपी कांग्रेस में फूट दिखा कर लोगों को गुमराह करने की कोशिश कर रही है।

पात्रा ने राहुल गांधी का गोत्र पूछा, प्रियंका बोलीं- राहुलजी का गोत्र भारतीयता है, आपका ‘मोदीयता’ है

इसके साथ बावरिया ने गोदी मीडिया पर हमला करते हुए कहा कि बीजेपी की इस साजिश में मीडिया के कुछ लोग भी शामिल हैं। उन्होंने बताया कि सीटों के बंटवारे को लेकर कोई तकरार नहीं है। सब सीटों पर सहमति बन गई है।

इससे पहले दिग्विजय सिंह ने भी झगड़े की ख़बरों को बेबुनियाद बताते हुए कहा कि मीडिया में जो भी खबरें दिखाई जा रही हैं वे पूरी तरह से ग़लत हैं। मध्‍य प्रदेश विधानसभा चुनाव में हम सब एक हैं और भ्रष्‍ट बीजेपी सरकार को हराने के लिए दृढ़ हैं।

गौरतलब है कि गुरुवार सुबह खबर आई थी कि राहुल गांधी के सामने ही दिग्विजय सिंह और ज्योतिरादित्य सिंधिया में टिकट बंटवारे को लेकर जमकर तू-तू मैं-मैं हुई।

अगर MP चुनाव में ‘व्यापम घोटाले’ की चर्चा नहीं हुई तो फिर वहाँ चुनाव नहीं, नौटंकी हो रही है : रवीश

बताया जा रहा था कि दोनों के बीच बहस इतनी तेज़ हो गई थी कि राहुल गांधी को दोनों के बीच मतभेद सुलझाने के लिए अहमद पटेल और अशोक गहलोत सरीखे वरिष्ठ नेताओं की एक कमेटी बनानी पड़ी।