सीबीआई में छिड़ी दो अफसरों की लड़ाई अब सबके सामने आ चुकी है। राकेश अस्थाना और अलोक वर्मा एक दूसरे को भ्रष्ट बता रहे हैं।

इस मामले में सीबीआई ने अपने दफ्तर में ही छापेमारे की है।

इस खबर को देखकर जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने लिखा- सीबीआई ने सीबीआई हेडक्वार्टर पर छापा मारा, ये कुछ असल सा मामला लगता है।

पत्रकार रोहिणी सिंह ने PM मोदी के बड़बोलेपन की ओर इशारा करते हुए लिखा- 70 सालों में पहली बार, एक और उपलब्धि!

जिसे सस्पेंड करके गिरफ्तार करना चाहिए उसको मिलने बुला रहे हैं मोदी, आखिर क्या छुपा रहे हैं ?

गौरतलब है कि सीबीआई में नंबर दो अफसर, स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना के खिलाफ रिश्वतखोरी के मामले में FIR दर्ज की गई है।

वहीं दूसरी तरफ अस्थाना ने सीबीआई के नंबर एक डायरेक्टर अलोक वर्मा के खिलाफ शिकायत कैबिनेट सचिव को भेजी है।

राहुल ने अस्थाना को बताया PM का दुलारा, बोले- इसी रिश्वतखोर ने मोदी को क्लीन चिट दिया था

राकेश अस्थाना की गिरफ़्तारी होने से दो अफसरों की लड़ाई आमने सामने आ गई है। राकेश अस्थाना के ख़िलाफ़ एफ़आईआर हैदराबाद के एक बिज़नेसमैन सतीश बाबू सना की शिकायत पर दर्ज हुई है।

सतीश बाबू ने आरोप लगाया है कि उन्होंने अपने ख़िलाफ़ जांच रोकने के लिए तीन करोड़ रुपयों की रिश्वत दी। एफ़आईआर में आस्थाना के ख़िलाफ़ साज़िश और भ्रष्टाचार का आरोप लगाया गया है।