हरियाणा विधानसभा चुनाव 2019 के नारिजों के लिए मतगणना जारी है। इस बीच बीजेपी को तगड़ा झटका लगा है। जारी मतगणना के मुताबिक बीजेपी के चार बड़े नेता और खट्टर सरकार में मंत्री हारते नजर आ रहे हैं।

सोनीपत से कविता जैन, बादली सीट से कृषि मंत्री ओपी धनखड़, नारनौंद से वित्त मंत्री कैप्टन अभिमन्यु और रादौर सीट से कर्णदेव कम्बोज पीछे चल रहे हैं।

हरियाणा बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष सुभाष बराला भी टोहाना सीट से हारते नजर आ रहे हैं। आकड़ों के अनुसार हरियाणा में किसी भी पार्टी को स्पष्ट बहुमत नहीं मिलता दिख रहा है। ऐसे में दुष्यंत चौटाला की ‘जेजेपी’ किंगमेकर की भूमिका में नजर आ रही है। हरियाणा में 46 सीटों पर बहुमत है। यहां कुल 90 सीटों की विधानसभा है।

जननायक जनता पार्टी के दुष्यंत चौटाला का कहना है कि, सत्ता की चाभी हमारे पास है। उन्होंने बीजेपी और कांग्रेस की ओर इशारा करते हुए कहा, कोई भी पार्टी 40 का आंकड़ा पार नै करेगी।

इस बार विधानसभा में जेजेपी अहम भूमिका निभाएगी। वहीं यह बात भी सामने आ रही है कि इस स्थिति में दुष्यंत चौटाला कांग्रेस के साथ जाकर कर्नाटक की तर्ज पर मुख्यमंत्री का पद मांग सकते हैं। भूपिंदर हुड्डा का कहना है कि, हरियाणा में कांग्रेस सरकार बनाने जा रही है।