उत्तर प्रदेश में अगले साल विधानसभा चुनाव होने वाले हैं। जिससे पहले सभी राजनीतिक दल सक्रिय हो चुके हैं। समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव ने ऐलान किया है कि वह साल 2022 के विधानसभा चुनाव में किसी भी बड़े राजनीतिक दल से गठबंधन नहीं करेंगे।

इसके अलावा बहुजन समाज पार्टी की अध्यक्ष मायावती के साथ गठबंधन करने के लिए कई छोटे राजनीतिक दल कोशिश में जुटे हुए हैं।

बसपा अध्यक्ष मायावती ने इसी कड़ी में भारतीय जनता पार्टी पर हमला बोलना शुरू कर दिया है। उन्होंने ट्वीट कर कल राज्य के युवाओं द्वारा योगी सरकार के खिलाफ किए गए धरना प्रदर्शन पर अपनी प्रतिक्रिया दी है।

मायावती ने ट्वीट कर लिखा- “यूपी व पूरे देश भर में करोड़ों युवा व शिक्षित बेरोजगार लोग सड़क किनारे पकौड़े बेचने व अपने जीवनयापन के लिए मजदूरी आदि करने को भी मजबूर हैं तथा उनके माँ-बाप व परिवार जो यह सब देख रहे हैं। उनकी व्यथा को समझा जा सकता है, जो यह दुःखद, दुर्भाग्यपूर्ण व अति-चिन्ताजनक। “

इसके आगे एक अन्य ट्वीट में उन्होंने लिखा- “बीएसपी देश में नौजवानों के लिए ऐसी भयावह स्थिति पैदा करने के लिए केन्द्र में बीजेपी के साथ-साथ कांग्रेस को भी बराबर की जिम्मेदार मानती है।

जिसने लम्बे अरसे तक यहाँ एकछत्र राज किया व अपने कार्यकलापों की भुक्तभोगी बनकर कांग्रेस केन्द यूपी व काफी राज्यों की भी सत्ता से बाहर हो गई।”

साथ ही उन्होंने भाजपा को चेतावनी देते हुए कहा- “यदि बीजेपी भी, कांग्रेस पार्टी के नक्शेकदम पर ही चलती रही तो फिर इस पार्टी की भी वही दुर्दशा होगी जो कांग्रेस की हो चुकी है,

जिसपर बीजेपी को गम्भीरता से जरूर सोचना चाहिये क्योंकि इनकी ऐसी नीति व कार्यकलापों से न तो जनकल्याण और न ही देश की आत्मनिर्भरता संभव हो पा रही है।”

बता दें, दरअसल कल लखनऊ में 69 हजार शिक्षक भर्ती के अभ्यर्थियों द्वारा योगी सरकार के खिलाफ धरना प्रदर्शन किया गया था। जिसमें पुलिस द्वारा छात्रों पर लाठीचार्ज किया गया।

जिसमें कई छात्रों को चोटें भी आई है। यूपी में रोजगार को लेकर राज्य के युवा कई बार सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल चुके हैं।

भाजपा के साथ बसपा अध्यक्ष ने कांग्रेस पर भी निशाना साधा है। मायावती का कहना है कि देश में नौजवानों के लिए इस तरह की भयंकर बेरोजगारी की स्थिति पैदा करने के लिए भाजपा के साथ-साथ कांग्रेस भी बराबर की जिम्मेदार है।

कांग्रेस ने लंबे समय तक देश पर राज किया है। लेकिन देश में बेरोजगारी खत्म नहीं हुई। इसी वजह से कांग्रेस देश और राज्यों की सत्ता से बाहर हो चुकी है।

भारतीय जनता पार्टी भी अब कांग्रेस के नक्शे कदम पर चल रही है। जिस तरह से कांग्रेस का हाल हुआ वैसा ही भाजपा का भी होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here