अमेरिका के ह्यूस्टन में ‘हाउडी मोदी’ कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस बात का दावा किया कि भारत में सब कुछ अच्छा है। पीएम मोदी की इस टिप्पणी पर आईएनएक्स मीडिया केस में गिरफ्तार पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम ने ज़ोरदार कटाक्ष किया है। उन्होंने कहा कि भारत में बेरोजगारी और मॉब लिं चिंग के अलावा सब अच्छा है।

पी चिदंबरम ने कहा, “बेरोजगारी, कम वेतन, भीड़ हिं सा, कश्मीर में तालाबंदी, मौजूदा नौकरियों के खत्म होने और विपक्षी नेताओं को जेल में डालने के अलावा भारत में सब अच्छा है”। उन्होंने ये बात ट्विटर के ज़रिए सोमवार को  कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह से तिहाड़ जेल में मुलाकात के बाद कही।

बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को 50 हजार अमेरिकी भारतीयों को संबोधित करते हुए ‘हाउडी मोदी’ कार्यक्रम में भारत की कई भाषाओं में इस बात का दावा किया था कि भारत में सब कुछ ठीक है।

अमेरिकी मंच पर नेहरू की तारीफ़ से साबित हुआ कि भारत हमेशा से लोकप्रिय रहा है 5 साल में नहीं हुआः साक्षी

ग़ौरतलब है कि पी चिदंबरम आईएनएक्स मीडिया केस में गिरफ्तार किए गए हैं और 5 सितंबर से तिहाड़ जेल में बंद हैं। कुछ दिन पहले ही कोर्ट ने मामले की सुनवाई के दौरान चिदंबरम की न्यायिक हिरासत को 3 अक्टूबर तक बढ़ा दिया था। इस वजह से अब उन्हें 14 दिन और तिहाड़ जेल में रहना पड़ेगा। उनकी जमानत याचिका पर आज 23 सितंबर को हाईकोर्ट में सुनवाई होनी है।

चिदंबरम पर क्या है आरोप?

आरोप है कि चिदंबरम के वित्त मंत्री रहते विदेशी निवेश को मंज़ूरी दी गई। CBI ने इस मामले में उनके बेटे कार्ति को भी गिरफ़्तार किया था और फिलहाल जमानत पर हैं। कार्ति पर 2007 में आईएनएक्स मीडिया को विदेशी निवेश संवर्धन बोर्ड (एफआईपीबी) की मंजूरी दिलाने के लिए पैसे लेने का आरोप है। उस वक्त उनके पिता यूपीए सरकार में वित्तमंत्री थे। सीबीआई ने पिछले साल 15 मई को मामले में प्राथमिकी दर्ज की थी।