अपने तमाम प्रचारों के लिए सोशल मीडिया का जमकर इस्तेमाल करने वाले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज शनिवार को स्वच्छता अभियान (Swachh Bharat Abhiyan) का अपना एक वीडियो शेयर किया है।

इस वीडियो में वह ख़ुद सफाई करते नज़र आ रहे हैं और लोगों को साफ-सफाई के प्रति जागरूक रहने का संदेश देते दिख रहे हैं। लेकिन इस बार वीडियो को शेयर करने में उनसे एक भारी चूक हो गई। जिसके चलते सोशल मीडिया पर उनका जमकर मज़ाक बनाया जा रहा है।

दरअसल, पीएम मोदी (Narendra Modi) ने शनिवार को एक वीडियो शेयर करते हुए ख़ुद ही इस बात की जानकरी दी कि उन्होंने सुबह ममल्लापुरम में एक बीच पर 30 मिनट तक सफाई अभियान चलाया। जिसके बाद बीच पर उठाए गए कचरे को होटल स्टाफ जेयाराज को सौंप दिया। इसके साथ ही उन्होंने लोगों को संदेश देते हुए कहा कि हम सभी लोगों को सुनिश्चित करना चाहिए कि सार्वजनिक स्थान साफ सुथरे रहें।

लेकिन साफ़-सफ़ाई पर ज्ञान देने वाले इस वीडियो में पीएम मोदी से एक भारी चूक हो गई। वह बीच पर कूड़ा-कचरा बटोरने के दौरान ये भूल गए कि जिस बैग में वह कचरा रख रहे हैं, वह प्लास्टिक (Plastic) का है। जिसे बैन करने का आदेश उन्हीं की सरकार ने दिया है। वीडियो बनाने के उत्साह में उन्हें ये याद ही नहीं रहा कि साफ़-सफाई कर वो जिस पर्यावरण को बचाने निकले हैं, उसे वो प्लास्टिक का इस्तेमाल कर ख़ुद ही ख़तरे में डाल रहे हैं।

अनजाने में हुई इस ग़लती के लिए पीएम मोदी को सोशल मीडिया पर जमकर निशाना बनाया जा रहा है। कांग्रेस से जुड़े विशाल कुन्द्रा ने पीएम मोदी के वीडियो को शेयर करते हुए लिखा, “देखिए नौटंकीबाज प्लास्टिक का विरोध प्लास्टिक की थैली के साथ”।

मोदी समर्थकों और मीडिया पर निशाना साधते हुए विशाल ने लिखा, “अंधभक्तो और गोदी मीडिया को यह प्लास्टिक की थैली नही दिखाई देगी। मुझे तो आशंका है अंधभक्त और गोदी मीडिया इस प्लास्टिक की थैली को सिल्वर की थैली ना बता दे”। 

वहीं आम आदमी पार्टी से जुड़ी आरती ने चुटकी लेते हुए लिखा, “Plastic bag इस्तेमाल करने का कितना फाइन बना?”