समाजवादी पार्टी के दिग्गज नेता रहे शिवपाल यादव अब फिर से समाजवादी पार्टी में शामिल होने का मन बना रहे हैं। शिवपाल ने खुले दिल से समाजवादी पार्टी में शामिल होने का मन बना लिया है। 2017 में पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से नाराज होकर शिवपाल यादव ने प्रगितिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) बना ली थी।

शिवपाल ने इटावा में पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि, “अगर सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव आपसी मतभेद भुला देंगे तो वे फिर से 2022 में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री बनने में कामयाब होंगे। हमारी प्राथमिकता समाजवादी पार्टी है। हमने लम्बे समय तक नेताजी नेताजी (मुलायम सिंह यादव) के साथ काम किया है। हमारी विचारधारा भी समाजवादी है।”

उन्होंने कहा, “हमारा प्रयास समाजवादी पार्टी को आगे बढ़ाने का है अब भतीजे अखिलेश समझें। उन्हें समझ लेना चाहिए, अगर समझ लेंगे तो सरकार बना लेंगे। हमने पहले भी कहा था हमें तो मुख्यमंत्री बनना नहीं है, मुख्यमंत्री तो भतीजे को ही बनना है। हमारी प्राथमिकता समाजवादी पार्टी है। प्रसपा की पूरी प्राथमिकता समाजवादी पार्टी से गठबंधन करने की है। अगर सपा से गठबंधन नहीं होता है जो हमें सम्मान देगा उसके साथ प्रयास करेंगे।

शिवपाल सिंह यादव ने इटावा में प्रसपा की बैठक में कहा, “मेरी इच्छा एक बार फिर से अखिलेश को मुख्यमंत्री बनाने की है। हम इसके लिए समाजवादी पार्टी से बिना किसी शर्त के गठबंधन को तैयार हैं। सपा और प्रसपा एक हो जाएं तो सरकार बना लेंगे।”

बता दें कि शिवपाल 22 नवंबर को पूरे राज्य में नेताजी मुलायम सिंह यादव का जन्मदिन मना रहे हैं। इसमें शिवपाल ने परिवार के सभी लोगों को आमंत्रित किया है। शिवपाल ने कहा, हम चाहते हैं नेताजी के जन्मदिन पर परिवार में एकता बढ़ जाए तो अच्छा है। यह हमारा प्रयास है। भतीजा समझ लेगा तो सरकार बना लेगा।