समाजवादी पार्टी (सपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने सोमवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस करके योगी सरकार पर तीखा हमला किया। कानून व्यवस्था में असफल योगी की सरकार में हत्या-लूट और बलात्कार बढ़े हैं वहीं फर्जी एनकाउंटर की सूची बहुत लंबी है।

अखिलेश ने कहा कि, “जिस तरह से उत्तर प्रदेश में हत्या हो रही हैं लग रहा है कि यूपी हत्या प्रदेश बन गया है।”

अर्थव्यवस्था की हालत पर अखिलेश ने केंद्र की मोदी सरकार पर निशाना साधा। आज हालात यहां तक हो गए हैं कि पड़ोसी देश बांग्लादेश का टाका रूपया भी हमारे रुपये से मजबूत हो गया है।

लेकिन मोदी सरकार की गलत नीतियों के कारण डॉलर मजबूत और रूपया कमजोर होता चला जा रहा है। बता दें कि सोमवार को इतिहास में पहली बार एक डॉलर 72.8 रुपये का हो गया है। हमारी अर्थव्यवस्था की हालत ख़राब है। लोकतंत्र की परिभाषा प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) सीबीआई और आयकर विभाग में ढूंढी जा रही है।

अखिलेश यादव की पूरी प्रेस कॉंफ्रेंस के लिए यहाँ क्लिक करें

अखिलेश ने कहा, योगी इन्वेस्टमेंट समिट के बहाने उद्योगपतियों को इकठ्ठा करके ढिंढोरा पीट रहे हैं। इन्वेस्टमेंट कितना हुआ है वो कितना ज़मीन पर उतरा है मुझे नहीं लगता कि उत्तर प्रदेश में कोई बड़ा निवेश आया है।

पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि, सरकार द्वारा बताया गया था कि इन्वेस्टमेंट समिट से उत्तर प्रदेश के यूवाओं को 70 लाख नौकरियां मिलेंगी। आखिरकार नौकरी और रोजगार कहां हैं? जिस तरह से देश की अर्थव्यवस्था चरमरा गई है उसकी वजह से न देश में नौकरी है और न उत्तर प्रदेश में है। नौजवान नौकरी के आभाव ने इस तरह कभी नहीं जिए होंगे जितने अभी बीजेपी की सरकार में जी रहे हैं।

देश के अर्थशास्त्री, उद्योगपति लगातार अर्थव्यवस्था के बुरे संकेत दे रहे हैं। हालात यहां तक हो गए हैं कि पड़ोसी देश बांग्लादेश का रूपया भी हमारे रुपये से मजबूत हो गया है। लेकिन मोदी सरकार की गलत नीतियों के कारण डॉलर मजबूत और रूपया कमजोर होता चला जा रहा है। बता दें कि सोमवार को इतिहास में पहली बार एक डॉलर 72.8 रुपये का हो गया है।