उत्तर प्रदेश में बीजेपी विधायक आए दिन विवादित बयान देते रहते है। अब योगी के मंत्री मुकट बिहारी ने सुप्रीम कोर्ट पर विदादित बयान दिया है। उन्होंने कहा कि अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण हमारा समाधान है। सुप्रीम कोर्ट हमारा है। न्यायपालिका, यह देश और मंदिर भी हमारा है। उन्होंने ये बयान तब दिया है जब सुप्रीम कोर्ट अयोध्या मामले की सुनवाई हर रोज कर रहा है।

दरअसल अयोध्या में राममंदिर और बाबरी मस्जिद के मालिकाना हक़ को लेकर सुप्रीम कोर्ट में मामला चल रहा है। इसकी हर रोज सुनवाई भी चल रही है सबको इंतजार फैसले का है, मगर बीजेपी विधायक मुकट बिहारी इसके इंतजार में नहीं है। क्योंकि उनका मानना है कि देश की न्यायपालिका हमारी है और अयोध्या का समाधान राम मंदिर निर्माण से ही निकलेगा।

हालाकिं अपने इस बयान पर मुकट बिहारी ने सफाई भी पेश की है। उनका कहना है कि ऐसा कभी नहीं कहा कि सुप्रीम कोर्ट सरकार का है, उनका मतलब था कि भारतीय अदालत में विश्वास करते हैं। सुप्रीम कोर्ट हमारा है से मेरा मतलब था कि हम इस देश के निवासी हैं और हम सुप्रीम कोर्ट में विश्वास करते हैं, मैंने ऐसा कभी नहीं कहा कि यह हमारी सरकार का है।

मुकट बिहारी खुद भी एक ज़िम्मेदार पद पर है ऐसे में उनका ये कहना कि सुप्रीम कोर्ट उनका है इसमें किसी और का नहीं बल्कि कोर्ट का अपमान है। साथ ही अपमान उनका भी जो न्याय की उम्मीद लेकर कोर्ट जाते है।

मगर ऐसा नहीं कि अयोध्या मामले की सुनवाई के दौरान ऐसा बयान पहली बार आया है। इससे पहले देश के गृहमंत्री अमित शाह से लेकर यूपी के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्या तक इस मामले पहले भी बयान देते रहें है। अमित शाह ने दिसंबर महीने बयान देते हुए कहा कि पार्टी चाहती है कि राम मंदिर बिल्कुल उसी स्थान पर बने, जहां बाबरी मस्जिद थी।

अयोध्या मामले पर राजनीतिक दबाव बनाने की कोशिश कोई नई नहीं है। बाबरी मस्जिद को जब हमला कर गिराया गया तब भी कोर्ट ने परिसर में घुसने की इजाजत नहीं दी थी। मगर योजना बनकर कारसेवकों ने बाबरी मस्जिद को गिरा दिया था।