कृष्णकांत

जब सुभाष चंद्र बोस आजाद हिंद फौज बनाकर अंग्रेजों से लड़ने निकले थे, जब पूरा निहत्था भारत गांधी की अगुआई में अंग्रेजों से युद्ध लड़ रहा था, तब सावरकर और श्यामा प्रसाद मुखर्जी के नेतृत्व में हिंदू महासभा अंग्रेजी सेना के लिए शिविर लगा रहे थे और भारतीय नवजवानों को भारत के खिलाफ लड़ने के लिए तैयार कर रहे थे. इस बहादुरी भरी देशद्रोह के लिए उन्हें बिल्कुल भारत रत्न मिलना चाहिए.

अगर इस योग्यता को आप ठीक नहीं मानते हों, तो जिस गोडसे ने महात्मा गांधी की हत्या की, वह सावरकर का चेला था, इस अनन्य योगदान के लिए सावरकर को भारत रत्न दे देना चाहिए. न सिर्फ भारत रत्न, बल्कि उन्हें महात्मा और राष्ट्रपिता घोषित कर देना चाहिए.

सबसे ठीक तो यह रहेगा कि बीजेपी सीधा गोडसे को गांधी की हत्या के लिए भारत रत्न दे दे. नीचे ही गिरना है तो एक एक सीढ़ी क्यों. सीधा Bungee jumping करनी चाहिए. देश की बर्बादी में एडवेंचर ही तो लेना है.

क्या है मामला

भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने मंगलवार को महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के लिए घोषणा पत्र जारी किया. बीजेपी ने अपने इस चुनावी घोषणा पत्र में विनायक दामोदर सावरकर को भारत रत्न देने की मांग की है।