उत्तर प्रदेश की योगी सरकार अपने कर्मचारियों को दिवाली के मौके पर झटका देती नज़र आ रही है। सरकार ने दिवाली से ठीक पहले 25 हज़ार होमगार्ड्स (Home Guards) को बेरोज़गार कर दिया है।

योगी सरकार (Yogi Sarkar) ने सोमवार को बजट का हवाला देकर 25 हज़ार होमगार्ड्स की ड्यूटी खत्म कर दी। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, पुलिस के बराबर वेतन किए जाने के बाद बजट का भार बढ़ गया। इसे बैलेंस करने के लिए होमगार्ड्स की छंटनी हुई है। इस संबंध में एडीजी पुलिस मुख्यालय वीपी जोगदंड ने आदेश जारी किया है।

दिवाली के पहले योगी ने हजारों घरों में किया अंधेरा! 25 हज़ार होमगार्ड्स की नौकरी छीनी

बता दें कि 28 अगस्त को मुख्य सचिव की बैठक में ड्यूटी समाप्त करने का फैसला लिया गया था। अब तक 40 हजार होमगार्ड्स की ड्यूटी समाप्त की जा चुकी है।

वहीँ इस मामले पर NDTV के वरिष्ठ पत्रकार रवीश कुमार (Ravish Kumar) ने योगी सरकार और मीडिया पर जमकर हमला बोला। उन्होंने फेसबुक पर लिखा-

माननीय योगी जी

पचीस हज़ार होमगार्ड की नौकरी का जाना दुखद है। पुन: विचार करें और इनके घरों को रौशन करें।

भारत का मीडिया

इस स्टोरी को कवर न करें। बल्कि हिन्दू ख़तरे में है से लेकर राम मंदिर का कवरेज बढ़ा दें।

भारत के सक्षम नागरिक

अगर आप अपने बच्चे को दंगाई बनाना चाहते हैं तो घर में न्यूज़ चैनल ऑन रखें। एक हफ्ते में काम हो जाएगा।

अयोध्या में लाखों दीप जलाने वाली सरकार ने 25 हज़ार होमगार्ड्स के घर के दीप बुझा दिएः सपा नेता

भारत के लाचार नागरिक

अगर आपको समझ नहीं आ रहा है कि इस वक्त अपने प्यारे भारत के लिए क्या करें तो मैं एक सबसे आसान उपाय बताता हूँ। न्यूज़ चैनल का कनेक्शन कटवा दें। री-चार्ज न कराएँ।

देशहित में इतना सरल योगदान कुछ और नहीं हो सकता।

याद रखें। न्यूज़ चैनल न देखें। यह मेरा आह्वान तो है ही। भारत माता की पुकार भी है।