चुनावों के करीब आते ही राम मंदिर निर्माण को लेकर बयानबाज़ियों का दौर तेज़ हो गया है। आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के बाद अब केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने चेतावनी देते हुए कहा है कि अयोध्या में मंदिर निर्माण होने से कोई नहीं रोक सकता है।

उमा भारती ने कहा कि राम मंदिर को लेकर जो माहौल बना है वह इसलिए बना है क्योंकि उत्तर प्रदेश में योगी की सरकार है और केंद्र में मोदी की सरकार है।

यूपी और केंद्र दोनों ही जगह बहुमत की सरकार है। अब दुनिया की कोई भी ताकत राम मंदिर बनने से नहीं रोक सकती। राम मंदिर वहीं बनेगा जहां पर मंदिर की जमीन है।

उमा भारती ने इस बात को स्वीकारते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश की योगी सरकार और केंद्र में मोदी सरकार रामलला के भक्तों के कारण ही बनी है।

RTI से ख़ुलासाः नमामि गंगे योजना फेल, मोदी सरकार के शासनकाल में ‘गंगा’ में बढ़ा प्रदूषण

रामलला के भक्तों ने जो संघर्ष किया है उसी वजह से यह सरकारें हैं। इसलिए दोनों ही सरकारों से काफी उम्मीदें हैं और यह उचित समय है।

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि 2019 नहीं बल्कि राम मंदिर निर्माण का कार्य 2018 से ही शुरु किया जाएगा, अभी साल ख़त्म होने में दो महीने बचे हैं। उन्होंने कहा कि 2019 में भी बीजेपी की सरकार बनेगी। बीजेपी ने जनता से जो भी वादे किए थे वो पूरे कर दिए।

केंद्रीय मंत्री के वादे पूरे करने के बयान पर सोशल मीडिया पर लोग उनका जमकर मज़ाक बना रहे हैं। लोग उनके गंगा सफाई के उस वादे को याद कर रहे हैं, जिसमें उन्होंने कहा था कि अगर वह गंगा को साफ़ करने में नाकाम रहीं तो जलसमाधि ले लेंगी।

 

Your Donation
Details