सरदार पटेल की मूर्ति पर हज़ारों करोड़ खर्च किए जाने को लेकर बीजेपी विपक्षियों के निशाने पर है। विपक्षी सवाल उठा रहे हैं कि विकास का दावा करने वाली बीजेपी जनता के पैसे का इस्तेमाल विकास कार्यों के बजाए मूर्ति बनाने में क्यों कर रही है?

विपक्षियों के सवालों का जवाब एक्टर एवं बीजेपी सांसद परेश रावल ने ट्विटर के ज़रिए दिया। उन्होंने लिखा, ‘विश्वास नहीं कर सकता हूं कि 99 शैक्षिक संस्थानों, 66 योजनाओं, 26 खेल ट्राफियां, 17 स्टेडियम, 9 हवाई अड्डे/बंदरगाहों, 41 पुरस्कार, 37 अस्पतालों, 17 राष्ट्रीय उद्यान, 37 सड़कें और 17 छात्रवृत्तियां!

गांधी-नेहरू परिवार के नाम होने के बावजूद लोगों को एक ऐसे व्यक्ति की 1 मूर्ति के से समस्या हो गई है, जिन्होंने भारत को एकजुट किया।’

पत्रकारों के सवाल पर PC छोड़कर भागे पात्रा, कांग्रेस बोली- इतना भी झूठ मत बोलो कि भागना पड़ जाए

अपने इस ट्वीट के ज़रिए रावल ने कांग्रेस को घेरने की कोशिश तो की लेकिन वह इसमें कामयाब नहीं हो सके। उलटा उन्होंने अपने इस ट्वीट से कांग्रेस की ही तारीफ़ कर डाली।

उन्होंने कांग्रेस पर हमला करते हुए अनजाने में कांग्रेस के ही काम गिना डाले। जबकि बीजेपी और पार्टी के सबसे बड़े नेता प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपनी हर रैलियों में यह दावा करते रहे हैं कि 70 सालों में कांग्रेस ने कुछ काम नहीं किया।

सोशल मीडिया पर अनजाने में हुई परेश रावल की इस चूक का जमकर मज़ाक बन रहा है। लोगों का कहना है कि रावल हैं तो बीजेपी की टीम में लेकिन बैटिंग कांग्रेस के लिए कर रहे हैं।

चौराहों पर पीटे जा रहे हैं मोदी के हमशक्ल, बोले- 2019 में BJP का नहीं ‘कांग्रेस’ का करूंगा प्रचार

पुनस्टर नाम के एक यूज़र ने लिखा, “शुक्रिया सर, इसका जवाब देने के लिए कि कांग्रेस ने 60 सालों में क्या किया। मान लिया कि नाम रखने से पहले उन्होंने (कांग्रेस) यह सब बनवाया था”।

आई उपासना ने लिखा, “आप शिक्षण संस्थानों और अस्पतालों की तुलना एक आदमी की मूर्ति से कर रहे हैं। बाबू भैया कांग्रेस की साइड से ट्वीट करने लग गए आप”।

यशु कानपुर नाम के यूज़र ने लिखा, “मोदी को कांग्रेस के 70 सालों की उपलब्धियां गिनाते भाजपा सासंद परेश रावल”।