मोदी सरकार की आर्थिक नीतियों के चलते देश का ऑटो सेक्टर बेहद ख़राब दौर से गुज़र रहा है। जीएसटी के कारण बिक्री में आई भारी गिरावट के बाद ऑटो सेक्टर की कंपनियों को अपने कर्मचारियों की बड़े पैमाने पर छंटनी करनी पड़ रही है। रिपोट्स के मुताबिक, पिछले चार महीने में 3.5 लाख लोगों को नौकरी से निकाला जा चुका है।

अंतरराष्ट्रीय समाचार एजेंसी रायटर्स में छपी एक रिपोर्ट के मुताबिक, वाहन निर्माता, पार्ट्स निर्माता और डीलर्स ने बीते अप्रैल महीने से 3.50 लाख से ज्यादा कर्मचारियों को नौकरी से निकाल दिया है। जानकारी के मुताबिक, देश की सबसे बड़ी कार निर्माता कंपनी मारूती ने अपने उत्पादन में कमी है और टाटा मोटर्स ने अपने चार प्लांट्स को शटडाउन कर दिया है।

मोदीराज 2 : ऑटोमोबाइल इंडस्ट्री पहुंची बर्बादी के कगार पर, छिन सकता है 10 लाख लोगों का रोजगार

मारुति सुजुकी इंडिया ने वाहन उद्योग में जारी सुस्ती के मद्देनजर जुलाई महीने में उत्पादन में 25.15 प्रतिशत की कटौती की है। यह लगातार छठवां महीना है जब कंपनी ने उत्पादन घटाया है। मारुति ने हाल ही में जारी एक रिपोर्ट में बताया कि, उसने जुलाई 2019 में 1,33,625 वाहनों का उत्पादन किया है। एक साल पहले इसी महीने में कंपनी ने 1,78,533 इकाइयों का उत्पादन किया था।

वहीं टाटा मोटर्स ने पिछले दो हफ्तों में अपने चार प्लांट्स को शटडाउन कर दिया है। टाटा मोटर्स के एक बयान में कहा गया है कि, डिमांड और स्प्लाई में आए अंतर के चलते ऐसा किया गया है। इसके साथ ही महिंद्रा की बात की जाए तो अप्रैल और जून महीने के बीच 5 से 13 दिन ऐसी स्थिति रही जब उत्पादन हुआ ही नहीं।

ऑटो सेक्टर के बाद अब मोबाइल सेक्टर बर्बादी की कगार पर, दो साल में गईं 2.5 लाख नौकरियां

बता दें कि ऑटो सेक्टर प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से तकरीबन 3.5 करोड़ लोगों को रोज़गार प्रदान करता है। निजी डेटा समूह CMIE के मुताबिक, जुलाई 2019 में भारत की बेरोजगारी दर एक साल पहले के 5.66 प्रतिशत से बढ़कर 7.51 प्रतिशत हो गई है। जानकारों का कहना है कि अगर सरकार इस दिशा में कोई ठोस कदम नहीं उठाती तो ऑटो सेक्टर में आई मंदी के हालात और बुरे हो सकते हैं।

ऑटो सेक्टर में आई मंदी को लेकर कांग्रेस ने केंद्र की मोदी सरकार पर निशाना साधा है। कांग्रेस प्रवक्ता अखिलेश प्रताप सिंह ने ट्विटर के ज़रिए कहा,  “ऑटो सेक्टर में हाहाकार! 4 महीने में 3.5 लाख नौकरियां खत्म, Maruti ने घटाया उत्पादन तो Tata ने बंद किया प्लांट। टेन्शन लेने का नहीं हट गया 370 अब सबको मिलेगी नौकरियां”। 

Your Donation
Details