5 राज्यों में चुनाव हारने के बाद भाजपा नेता अपना आप खो दे रहे हैं, कुछ भी बयानबाजी करते हुए सुने दे रहे हैं। इसमें भाजपा के छोटे बड़े सभी नेता शामिल हैं। 

क्योंकि बीजेपी नेताओं को पता है कि यूपी में सपा बसपा के साथ आने मात्र से 2019 की राह नामुमकिन होनी वाली है इसलिए महागठबंधन का नाम सुनते ही नेतागण भड़क जा रहे हैं।

अब यूपी के मुख्यमंत्री केशव मौर्य ने विवादित बयान दिया है, उन्होंने कहा-  ‘हम महागठबंधन को राफेल से उड़ा देंगे।’

दरअसल सुप्रीम कोर्ट पर आए फैसले पर देश की हर बीजेपी शासित राज्य की सरकारों ने प्रेस कांफ्रेंस करते हुए कांग्रेस पर निशाना साधा था। मगर इसमें यूपी के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने विपक्षियों पर निशाना साधते हुए हद ही कर दी।

5 राज्यों का जनादेश बताता है कि देश ‘जुमलों’ से नहीं चलता क्योंकि सवाल ‘मंदिर’ का नहीं ‘पेट’ का है : पुण्य प्रसून

उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और उनकी टीम के झूठ पर तमाचा पड़ा है।

यहां तक भी ठीक था जब तक वो भाषाई तौर पर ठीक बात कर रहे थे। मगर इसी बीच उन्होंने महागठबंधन के सवाल पर जवाब देते हुए कहा कि ‘हम महागठबंधन को राफेल से उड़ा देंगे।’

केशव प्रसाद मौर्य का ये बयान बेहद ही शर्मनाक है इस तरह के बयान की उम्मीद एक ज़िम्मेदार पद पर बैठे व्यक्ति से नहीं की जा सकती है।

देश में 2 बार सरकारी कत्लेआम हुआ, पहला 1984 दूसरा 2002, एक को सजा मिल गई अब दूसरे की बारी : जरनैल सिंह

बता दें कि विपक्ष पर निशाना साधने में बीजेपी बड़े नेता से लेकर प्रधानमंत्री तक इस बात की फ़िक्र नहीं करते की वो जो बोल रहें है वो कितना सही है और कितना गलत यही वजह थी कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने हुनमान की जाति घोषित करते हुए दलित बता दिया था जिसका नुकसान उन्हें चुनावों में उठाना पड़ा था।