पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज का मंगलवार की रात नई दिल्ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में निधन हो गया। उनके निधन से देशभर में शोक का माहौल है। लोग शोक मनाने के साथ ही उनके द्वारा किए गए अच्छे कामों को भी याद कर रहे हैं।

पाकिस्तान की जेल से भारत लौटे मुंबई के रहने वाले सॉफ्टवेयर इंजीनियर हामिद अंसारी ने बुधवार को दिवंगत सुषमा स्वराज की मौत पर गहरा शोक जताते हुए कहा कि सुषमा स्वराज उनकी मां की तरह थीं। बता दें कि सुषमा स्वराज की कोशिशों के चलते ही हामिद अंसारी 6 साल बाद पाकिस्तान की जेल से रिहा हो सके थे।

स्वराज के निधन पर नम आंखों से श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए हामिद ने कहा, “मेरे दिल में उनके लिए गहरा सम्‍मान है। वे हमेशा मेरे दिल में जीवित रहेंगी। वह मेरी मां के समान थी। पाकिस्‍तान से लौटने के बाद उन्‍होंने ही मेरा मार्गदर्शन किया। उनका न रहना मेरे लिए बड़ा नुकसान है।” 6 साल जेल में रहने के बाद भारत लौटे हामिद ने सबसे पहले सुषमा स्वराज से मुलाकात की थी।

बता दें कि हामिद अंसारी को साल 2012 में गैरकानूनी रूप से पाकिस्तान में दाखिल होने के आरोप में वहां की सुरक्षा एजेंसियों ने गिरफ्तार कर लिया था। पाकिस्तान की सुरक्षा एजेंसियों ने उनपर बिना अनुमति अफगानिस्तान के रास्ते पाकिस्तान में दाखिल होने का आरोप लगाया। साथ ही उनपर फर्जी पाकिस्तानी पहचान-पत्र रखने का भी आरोप था।

रिपोर्ट के मुताबिक हामिद सोशल मीडिया के जरिए दोस्त बनी एक लड़की (कथित तौर पर प्रेमिका) से मिलने के लिए सरहद पार कर गए थे। बाद में हामिद दिसंबर, 2018 में तब की विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के अथाह प्रयासों के चलते अटारी-वाघा बॉर्डर के जरिए भारत वापस लौटे थे।

बेटे के वापस लौटने पर तब अंसारी की मां फौजिया अंसारी ने कहा था, ‘मेरा भारत महान…मेरी मैडम महान…सब मैडम (सुषमा स्वराज) ने किया है।’