हाल में संपन्न हुए पांच राज्यों के चुनाव में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की प्रचार के लिए भारी डिमांड थी। योगी जिस तरीके के भाजपा के फायरब्रांड नेता माने जाते हैं, उन्होंने वैसा ही किया।

व्यक्ति विशेष पर हमला और हिंदुत्व के एजेंडे को भाजपा की तरफ से जनता के सामने रखा भी। लेकिन भगवान हनुमान की जाती बताकर योगी और उनकी पार्टी संकट में आ गई। 

नतीजा ये हुआ की मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में 15 साल सत्ता सँभालने के बाद बीजेपी को हार का मुँह देखना पड़ा।

अब बीजेपी की राजस्थान, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में हार पर यूपी की अति महत्वपूर्ण सीटों में से एक ‘गोरखपुर’ लोकसभा सीट से सपा सांसद प्रवीण कुमार निषाद ने योगी आदित्यनाथ पर तंज कस्ते हुए निशाना साधा है।

बता दें गोरखपुर से योगी आदित्यनाथ लगातार पांच बार संसद रहे हैं। एक न्यूज़ चैनल से बात करते हुए  प्रवीण निषाद ने कहा कि, “जो अपनी सीट नहीं बचा पाए, वो दूसरों को क्या चुनाव जीता पाएंगे।”

प्रवीण निषाद ने कहा, “जो खुद असफल रहा है वो किसी और को सफलता का पाठ कैसे पढ़ा सकता है? आज देश में बीजेपी के खिलाफ जनता का गुस्सा बढ़ रहा है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के भाषण का 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव में जनता पर कोई असर नहीं पड़ने वाला है।”

योगी के सीट छोड़ने के बाद गोरखपुर में हुए उपचुनाव में भारी मतों से जीतकर संसद पहुंचे प्रवीण कुमार निषाद ने आगे कहा, “झूठे वादे की सरकार अब देश से गई। अब जो देश के असली मुद्दों पर काम करेगा उसी की सरकार देश से लेकर राज्यों में बनेगी।

धर्म वोट मांगने वाली बीजेपी को जनता भलीभांति समझ चुकी है। अब देश का नौजवान विकास चाहता है, महिलाएं सुरक्षा चाहती हैं, देश में अबतक अहित हो रहा था। यही वजह है कि जनता बीजेपी को हराने का काम कर रही है।”

वहीं, प्रवीण निषाद ने कहा पिछली बार 22 हजार मतों से सपा ने जीत हासिल की थी अब सपा-बसपा गठबंधन के बाद 2 लाख से अधिक वोटों से जीतेंगे। भाजपा और सीएम योगी के गढ़ गोरखपुर में 2019 लोकसभा चुनाव में बीजेपी को और भी भारी मतों से हराएंगे