पंजाब एंड महाराष्ट्र को-ऑपरेटिव (PMC) बैंक घोटाले से परेशान खाताधारक संजय गुलाटी (Sanjay Gulati) की सोमवार को दिल का दौरा पड़ने से मौत हो गई। बताया जा रहा है कि संजय के परिवार के PMC बैंक में 90 लाख रुपए फंसे हैं।

जानकारी के मुताबिक, संजय को दिल का दौरा उस वक्त पड़ा जब वह सोमवार को बैंक पर लगाई गई पाबंदियों के खिलाफ मुंबई के किल्ला कोर्ट के बाहर प्रदर्शन कर रहे थे। प्रदर्शन के बाद जब वह घर पहुंचे तो उन्हें दिल का दौरा पड़ा। जिसकी वजह से उनकी मौत हो गई। संजय मुंबई के ओशिवारा इलाके के रहने वाले थे।

PMC बैंक खाताधारक की सदमे में हुई मौत, अटके थे 90 लाख, कुछ भी चंगा सी नहीं है मोदी जी

संजय की मौत पर कवि कुमार विश्वास (Kumar Vishvas) ने दुख जताते हुए सरकार पर ज़ोरदार हमला बोला है। उन्होंने ट्वीट कर लिखा, “खुद के पसीने से कमाया नब्बे लाख रुपया सरकारों की निगरानी के भरोसे बैंक में जमा किया! इनका बच्चा स्पेशल चाइल्ड है, वित्तमंत्री (Nirmala Sitharaman) ने हाथ झाड़ लिए कि “आपका पैसा लुट गया हम क्या कर सकते है” जवान आदमी सदमे में मर गया। आइए अपनी-अपनी सरकार-पार्टी-नेता की चिंटूगीरी करते हुए कुतर्क करें”। 

संजय गुलाटी के एक पड़ोसी ने बताया, ”कल जब हम किल्ला कोर्ट के बाहर प्रदर्शन करने पहुंचे थे तब संजय गुलाटी भी हमारे साथ थे। जेट एयरवेज से नौकरी जाने के बाद से ही वो काफी परेशान थे। घर की माली हालत बद से बत्तर होती जा रही थी। उनके 2 बच्चे है जिसमें से एक कि मानसिक स्थिति ठीक नहीं है। घर में बूढ़े पिता हैं। उन्हें इन सब बातों की चिंता सता रही थी।”

संजय की सोसाइटी के सचिव यतींद्र पाल ने बताया कि दोपहर करीब 3.30 बजे संजय प्रदर्शन से लौट कर आए और सो गए। करीब 4.45 बजे उन्होंने अपनी पत्नी को खाना परोसने के लिए कहा। जब वह खाना खा रहे थे, इसी दौरान गिर पड़े।

पाल ने कहा, घर में संजय की पत्नी अकेली थीं। उन्होंने मुझे फोन किया। हम संजय को कोकिलाबेन अस्पताल ले गए, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

क्या है PMC बैंक मामला?

बैंक में लोन घोटाले की वजह से आरबीआई ने पिछले महीने पीएमसी पर 6 महीने का प्रतिबंध लगा दिया और ग्राहकों के लिए रकम निकासी की सीमा 1000 रुपए तय कर दी थी। बाद में ये लिमिट 10 हजार और फिर 25 हजार और सोमवार को 40 हजार रुपए की गई। प्रतिबंध लागू रहने तक खाताधारक बैंक से केवल 40 हजार रुपए ही निकाल सकेंगे।

घोटाले की वजह से हजारों खाताधारकों का पैसा बैंक में फंस गया है। जिसकी वजह से खाताधारकों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। इस पाबंदी की वजह से किसी की शादी रुकी हुई है तो किसी को इलाज में समस्याएं आ रही हैं। इन्हीं दिक्कतों को लेकर खाताधारक आरबीआई के आदेश के खिलाफ लगातार प्रदर्शन कर रहे हैं।