पिछले दिनों पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने जीडीपी गिरावट को लेकर मोदी सरकार पर निशाना साधा था। जिसपर वित्त राज्यमंत्री अनुराग ठाकुर ने पलटवार करते हुए कहा था कि पूर्व पीएम मनमोहन सिंह अपने कार्यकाल में न ही जीएसटी ला पाए, न ही महंगाई पर काबू कर सके और कांग्रेस कार्यकाल में तो भ्रष्टाचार चरम पर था।

मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल में वित्त राज्यमंत्री बनाए गए अनुराग ठाकुर ने कहा था कि मनमोहन सिंह ने अलग-अलग क्षेत्रों में काम किया है और आज विश्व भर में अर्थव्यवस्था की स्थिति से वो भलीभांति वाकिफ हैं। इस जवाब के बाद कांग्रेस नेता और राज्यसभा सांसद अभिषेक मनु सिंघवी ने अपने निशाने पर ले लिया।

शिवसेना ने की मनमोहन की तारीफ, कहा- आर्थिक मंदी पर उनकी सलाह को नकारा नहीं जा सकता

इस मामले पर कांग्रेस नेता अभिषेक मनु सिंघवी ने सोशल मीडिया पर वित्त मंत्री अनुराग ठाकुर के दावे पर उन्हें ही चुनौती दे दी। कांग्रेस नेता ने कहा कि भारत में आर्थिक नीति/अर्थव्यवस्था की वर्तमान स्थिति पर अनुराग ठाकुर और मनमोहन सिंह की पसंद के किसी भी छात्र के बीच सार्वजनिक बहस देखना पसंद चाहूँगा, मैं डॉ मनमोहन सिंह को समझाने की कोशिश करूंगा।

गौरतलब हो कि मनमोहन सिंह की आलोचना को खारिज करते हुए मोदी सरकार की तरफ से कहा गया कि यह उनके विश्लेषण की इत्तेफाक नहीं रखता क्योंकि अब भारत उनके समय के दौरान 11वीं से दुनिया की पांचवीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन गया है।

बता दें कि पिछले सप्ताह पूर्व प्रधानमंत्री डॉ मनमोहन सिंह ने अर्थव्यवस्था पर चिंता व्यक्त करते हुए कहा था कि आज अर्थव्यवस्था की हालत बहुत चिंताजनक है। पिछली तिमाही में विकास दर 5 फीसदी यह बताता है कि अर्थव्यवस्था में स्लोडाउन चल रहा है।

मोदीराज में अर्थव्यवस्था 70 साल के सबसे बुरे दौर में, साक्षी बोलीं- अब सिर्फ मनमोहन ही बचा सकते हैं

भारत में बहुत तेज गति से बढ़ने की क्षमता है लेकिन मोदी सरकार के कुप्रबंधन का ही यह मंदी का परिणाम है। उन्होंने आगे कहा कि नोटबंदी और जीएसटी जैसे ब्लंडर की वजह से हमारी इकॉनमी को जो नुकसान हुआ है, उससे हम अभी उबर नहीं पाए हैं।