एनडीटीवी के वरिष्ठ पत्रकार रवीश कुमार को एक बार फिर बड़े पुरस्कार से सम्मानित किया गया है। इस बार एशिया का नोबेल प्राइज़ कहे जाने वाले रमन मैग्सेसे अवार्ड से सम्मानित किया गया है।

ये अवॉर्ड व्यक्तियों और संस्थाओं द्वारा अपने क्षेत्र में किए गए उल्लेखनीय कामों के लिए दिया जाता है।

पुरस्कार देने वाली संस्था ने ट्वीट किया है कि रवीश कुमार को ये पुरस्कार उन लोगों की आवाज़ उठाने के लिए दिया जा रहा है जिनकी आवाज़ कोई और नहीं उठाता। रवीश कुमार का कार्यक्रम प्राइमटाइम आम लोगों की वास्तविक, अनकही समस्याओं को उठाता है।

डिलीवरी बॉय से बोलीं साक्षी जोशी- दुखी मत हो, तुम मेरे लिए खाना लाओ, मैं खुशी खुशी खाऊंगी

इसके साथ ही दिए गए प्रशस्ति पत्र में कहा गया- ‘अगर आप लोगों की आवाज़ बन गए हैं तो आप पत्रकार हैं।’

वैसे तो देश में मैग्सेसे पुरस्कार पानी वालों की फेहरिस्त लंबी है लेकिन पत्रकार के तौर पर रवीश कुमार छठे व्यक्ति हैं जिन्हें ये पुरस्कार मिला है।

इससे पहले 1961 में अमिताभ चौधरी को, 1975 में बीजी वर्गीज को, 1982 में अरुण शौरी को, 1984 में आरके लक्ष्मण को और 2007 में पी साईनाथ को मैग्सेसे पुरस्कार मिला था।

Your Donation
Details