राफेल डील में हुए नए खुलासे के बाद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के बाद बीजेपी सहयोगी दल शिवसेना ने मोदी सरकार निशाना साधा है।

शिवसेना के राज्यसभा सांसद संजय राउत ने कहा कि राफेल डील मामले में जवाबदेही प्रधानमंत्री मोदी की है, इससे फर्क नहीं पड़ता है कौन क्या बोल रहा है मगर देश का प्रधानमंत्री खामोश है ये सब देख रहें है।

संजय राउत ने राफेल डील पर जिस तरह से लगातार सवाल उठ रहें है उसे देखकर लगता है अब प्रधानमंत्री मोदी को राफेल पर अपनी चुप्पी तोड़नी चाहिए।

शिवसेना बोली- बोफोर्स का बाप है ‘राफेल’ इस घोटाले के खिलाफ बोलने वाले राहुल गांधी का देश में मान बढ़ा है

इस मामले पर देश बीजेपी प्रवक्ता को नहीं प्रधानमंत्री मोदी सुनना चाहता है। कांग्रेस अध्यक्ष क्या कह रहें है क्या नहीं इससे देश को शक होता है ऐसे में पीएम मोदी चाहिए की देश को सच पता चलना चाहिए।

इससे पहले भी शिवसेना सांसद ने राफेल डील पर हमला बोलते हुए कहा था कि बोफ़ोर्स सौदे में कांग्रेस नेता सोनिया गांधी के रिश्तेदार पर 65 करोड़ की घूस लेने का आरोप लगाया था आज वही सत्ता में है।

मगर इस बार मामला सिर्फ 65 करोड़ का नहीं है बल्कि 700 करोड़ रूपये घूस लेने का है जिसे देखकर कहा जा सकता है कि राफेल बोफ़ोर्स का बाप बताया था।

राफ़ेल पर बोले कन्हैया- रक्षामंत्री ‘देश’ की रक्षा करने की बजाय ‘अंबानी’ की रक्षा करने में जुटी हैं

बता दें कि फ़्रांस के मीडिया संगठन ‘मीडियापार्ट’ ने खुलासा करते हुए बताया है कि फ़्रांस की राफेल विमान बनाने वाली कंपनी ‘डसौल्ट’ के उच्च अधिकारी ने कह दिया था कि जबतक हम अनिल अंबानी की कंपनी से विमान बनाने के लिए साझेदारी नहीं कर लेते तब तक हमें विमान की डील नहीं मिलेगी। मतलब तब तक भारत सरकार ये डील फ़्रांस से नहीं करेगी।

ये दस्तावेज डसौल्ट के डेप्युटी चीफ एग्जीक्यूटिव ऑफिसर ‘लोइक सेगालेन’ की प्रेसेंटेशन का हिस्सा था। उन्होंने इस मामले को अपनी कंपनी में प्रेजेंट करते हुए बताया था कि अगर कंपनी ये डील चाहती है तो उसे अनिल अंबानी की ‘रिलायंस डिफेंस लिमिटेड’ को पार्टनर चुनना ही पड़ेगा।