बीजेपी सरकार की नीतियों पर सवाल खड़े करने वाले मीडिया संस्थान इन दिनों केंद्र के निशाने पर हैं। एनडीटीवी के बाद अब इस फ़ेहरिस्त में न्यूज़ पोर्टल द क्विंट का नाम जुड़ गया है। आयकर विभाग की टीम ने द क्विंट के मालिक राघव बहल के घर और दफ्तर पर छापेमारी की है।

समाचार एजेंसी पीटीआई ने अधिकारियों के हवाले से बताया है कि आईटी विभाग के अधिकारियों ने गुरुवार सुबह बहल के नोएडा स्थित आवास पर छापा मारा और दस्तावेजों की तलाशी ली। आईटी विभाग कथित टैक्स चोरी के मामले से जुड़े साक्ष्यों की तलाश में है।

वहीं राघल बहल ने आयकर विभाग के आरोपों को बेबुनियाद बताया है। उन्होंने एडिटर्स गिल्ड को लिखे अपने बयान में कहा है कि हम नियम से टैक्स भरने वाले संस्थान हैं। हम सभी उचित वित्तीय कागजात जांच के लिए पेश करेंगे।

AAP मंत्री के घर IT का छापा, केजरीवाल बोले- भगौड़े नीरव-माल्या से दोस्ती और रेड हम पर?

राघव बहल ने बताया है कि वह मुंबई से दिल्ली आ रहे हैं। इसके साथ ही उन्होंने घर में घुसे आयकर अधिकारी से कड़े शब्दों में कहा है कि उनके घर से पत्रकारिता से संबंधित कोई भी दस्तावेज लेने या किसी ई-मेल को देखने की कोशिश न की जाए। उन्होंने कहा कि अगर ऐसा किया गया तो इसके खिलाफ जरूरी कदम उठाए जाएंगे।

बहल ने उम्मीद जताई कि इस मामले में एडिटर्स गिल्ड उनका साथ देगा और इससे भविष्य में किसी भी मीडिया संस्थान के खिलाफ होने वाली ऐसी कार्रवाई के खिलाफ एकजुट होने की मिसाल पेश की जा सकेगी।

10 साल में सबसे कम हुआ निवेश, GDP 10% ले जाने का वादा करके देश को 10 साल पीछे ले गए मोदी

बता दें कि इससे पहले पिछले साल जून में सीबीआई ने एनडीटीवी के संस्थापक और वरिष्ठ पत्रकार प्रणय रॉय के दिल्ली और देहरादून में स्थिति आवास पर छापेमारी की थी।

इन छापों में सीबीआई के हाथ कुछ नहीं लगा था। जिसके बाद सीबीआई और केंद्र सरकार की जमकर आलोचना हुई थी।