योगी सरकार में रोजगार पाने के लिए पहले योग्य होना पड़ता था अब जब कोई योग्य हो जाये तो उसपर डंडा और लाठी बरसाया जा रहा है।

कल राजधानी लखनऊ में जब बीटीसी 68500 सहायक अध्यापक भर्ती परीक्षा के अभ्यर्थियों ने विधानसभा का घेराव किया तो योगी की पुलिस ने बर्बरता दिखाते हुए लाठियां बरसाई जिसमें कई अभ्यर्थी लहू-लुहान हो गए।

योगी सरकार की इस बर्बरता पर पत्रकार आशुतोष मिश्रा ने सोशल मीडिया पर लिखा- आप मंदिर मस्जिद के पीछे भागिए, आपके बच्चे रोजगार और बेहतर जीवन के लिए संघर्ष करेंगे।

BTC अभ्यर्थियों की पिटाई करने वाली योगी सरकार पागल हो चुकी है, जो महिलाओं पर लाठियां बरसाती है

विचारधाराओं से ज्यादा यह दो पीढ़ियों के बीच की लड़ाई है। तबतक सरकार अपना अधिकार मांग रहे रामलला के बच्चों का ऐसी ही खून बहाएगी।

बता दें कि प्रदर्शन कर रहे अभ्यर्थी बीटीसी की इस शिक्षक भर्ती में मेरिट को घटाकर 30 से 33 प्रतिशत करने की मांग कर रहे हैं, जो कि 40 से 45 प्रतिशत रखी गई है। अपनी इसी मांग को लेकर शुक्रवार को बड़ी तादाद में अभ्यर्थियों ने विधानसभा का घेराव किया।

फिर दिखी योगी की पुलिस की हैवानियत, BTC अभ्यर्थियों को बेरहमी से घसीट-घसीट कर पीटा

घेराव के बाद अभ्यर्थी राज्य की योगी सरकार के खिलाफ़ नारेबाज़ी करने लगे। जिसपर योगी की पुलिस भड़क गई और अभ्यर्थियों को खदेड़ने के लिए लाठीचार्ज शुरु कर दिया।

इस दौरान पुलिस ने कई अभ्यर्थियों को घसीट-घसीट कर पीटा। पुलिस के इस लाठीचार्ज की कई तस्वीरें भी सामने आई हैं। जिसमें अभ्यर्थियों पर पुलिस की बर्बरता को साफ़ तौर पर देखा जा सकता है।