राफ़ेल को लेकर हुए नए ख़ुलासों के बाद बीजेपी के बागी सांसद शत्रुघ्न सिन्हा ने केंद्र की मोदी सरकार पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि राफ़ेल डील पर सरकार को जवाब देना होगा।

दरअसल, शत्रुघ्न सिन्हा समाजवादी पार्टी द्वारा आयोजित जय प्रकाश नारायण की जयंती के कार्यक्रम में शिरकत करने लखनऊ पहुंचे थे। उनके साथ इस कार्यक्रम में पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा भी मौजूद रहे। इस दौरान दोनों ही नेताओं ने मोदी सरकार पर तीखे प्रहार किए।

शत्रुघ्न सिन्हा ने सिलसिलेवार तरीके से मोदी सरकार की नीतियों को घेरते हुए कहा कि जुमलेबाज़ी और खोखला वायदा नहीं चलेगा। नोटबंदी का फैसला पार्टी का नहीं था। बीजेपी में तानाशाही चल रही है।

आडवाणी जी का अपमान करने वाले PM मोदी को हाथ जोड़कर माफ़ी मांगनी चाहिए : शत्रुघ्न सिन्हा

नोटबंदी पर गरीबों के बारे में कुछ नहीं सोचा गया। नोटबंदी के बाद जीएसटी लागू कर व्यापारियों की कमर तोड़ दी गई। राफेल डील पर सरकार को जवाब देना होगा।

इस दौरान शत्रुघ्न सिन्हा ने सपा प्रमुख अखिलेश यादव की भी जमकर तारीफ़ की। उन्होंने कहा कि अखिलेश यादव देश की राजनीति का उभरता हुआ सितारा हैं। वह उत्तर प्रदेश के सबसे मज़बूत और मशहूर नेता हैं। सिन्हा ने कहा कि अखिलेश यादव के साथ मिलकर भविष्य की राजनीति पर चर्चा भी करेंगे।

सुप्रीम कोर्ट ने मोदी सरकार को लगाई फटकार, कहा-देश को समझाएं कैसे ख़रीदा ‘राफेल विमान’

वहीं, कार्यक्रम में मौजूद यशवंत सिन्हा ने भी मोदी सरकार को आड़े हाथों लिया। उन्होंने कहा कि देश में मौजूदा हालात इमरजेंसी से भी बदतर हैं। सभी को एकजुट होकर लड़ना पड़ेगा। शत्रुघ्न जी और मैं देश भर में घूम कर लोगों को जागरूक कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि देश में लोकतंत्र खतरे में है। अगर हम चेते नहीं तो देश का बहुत नुकसान होगा। लोकतांत्रिक संस्थाएं खतरे में हैं। अगर हम एकजुट होकर लड़ें तो जीत हमारी होगी। यूपी से बीजेपी की छुट्टी हो चुकी है।